Sourav Ganguly के 6 मशहूर किस्से जिसने उस दौर में खूब बटोरी सुर्खियां

0
7

अक्सर हम सबने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली के बारे में अलग-अलग तरह की बातें सुनी हैं लेकिन इनसे भी आगे Sourav Ganguly रहे हैं। इन्होंने अपने जीवन में क्रिकेट के अलावा कई ऐसी तरह की चीजें हुईं जिनसे आजतक उनके फैंस अंजान होंगे। भारतीय क्रिकेट के पूर्व कप्तान जितना अच्छा क्रिकेट खेलते थे उतना ही अच्छा अपने सहयोगियों के प्रति उनका व्यवहार था और उनसे जुड़े कई किस्से प्रचलित हैं। बंगाल के दादा कहे जाने वाले सौरव गांगुली का बचपन राजकुमार की तरह बीता और फिर जो चाहा उन्होंने प्राप्त किया। Sourav Ganguly Birthday के मौके पर हम आपको उनसे जुड़े कुछ किस्से बताएंगे जिन्हें शायद ही आप जानते हों।

Sourav Ganguly के 6 मशहूर किस्से

8 जुलाई 1972 को बंगाल के कोलकाता में जन्में Sourav Ganguly एक राजघराने से बिलॉन्ग करते हैं। बचपन से ही उनके अंदर क्रिकेट खेलने की लगन देखकर उनके पिता ने घर में ही उनके लिए पिच बनवा दी थी। बंगाल में बड़े भाई को प्यार से दादा बोलते हैं और सौरव इसका भरपूर फायदा उठाकर लोगों पर दादागिरी और दबंगई करते थे लेकिन फिर भी सौरव दिल के बहुत अच्छे इंसान हैं। Sourav Ganguly Indian team में एक समय ऐसा भी समय आया था जब गुस्से के मामले में सौरव दादा विराट कोहली से भी आगे थे, चलिए बताते हैं इनके 6 मशहूर किस्से…

करियर का पहला मैच

साल 1993 में सौरव गांगुली ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट (International Cricket) में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच से डेब्यू (sourav ganguly debut) किया था। इस मैच में उनके साथ विवाद खडा़ हो गया था, मैदान पर मौजूद अपने साथियों के लिए कोल्ड ड्रिंक्स ले जाने को कहा गया था जबकि टीम में सभी उनके सीनियर्स थे। गांगुली ने ऐसा करने से साफ मना कर दिया और फिर उन्हें टीम से 4 साल के लिए सस्पेंड कर दिया गया। मगर एक इंटरव्यू में सौरव गांगुली ने इस बात को अफवाह बताया था, उनके मुताबिक ऐसा कुछ नहीं हुआ था उन्होंने इतना जरूर कहा था कि उस समय हमारा मैनेजर अच्छा नहीं था। वैसा मैनेजर होना टीम के लिए शर्म की बात थी। बता दें ये सौरव गांगुली से जुड़ा पहला विवाद था।

काउंट्री क्रिकेट के Prince Charles

Sourav Ganguly

साल 2000 में सौरव गांगुली ने काउंट्री क्रिकेट खेलना शुरु कर दिया था और इसमें उनका व्यवहार किसी से कम नहीं था। इस समय उनका व्यवहार एक प्रिंस की तरह हो गया था, दादा अन्य क्रिकेटर्स पर हुक्म चलाते थे और ना चाहते हुए भी सभी को वो मानना पड़ता था। गांगुली ने एक साथी को अपना बैग और स्वेटर पकड़ने का ऑर्डर तक दे दिया था, तब उन्हें लोग घमंडी और प्रिंस की तरह हुकुम चलाने वाला बुलाने लगे थे।

गांगुली का अफेयर

एक समय ऐसा था जब शादीशुदा सौरव गांगुली का अफेयर एक्ट्रेस नगमा के साथ हो गया था। सौरव नगमा के प्यार में इतने पागल हो गए थे कि उन्होंने तलाक लेने का फैसला कर लिया था। मैग्जीन और अखबारों में सौरव और नगमा की शादी की अफवाहें भी उड़ने लगी थीं, गांगुली ने एक इंटरव्यू में अपने अफेयर को कबूल भी किया था मगर एक्ट्रेस नगमा नहीं चाहती थीं कि उनकी वजह से किसी का घर टूटे इसलिए उन्होंने दादा से दूरियां बना लीं। काफी समय तक सौरव इस गम से बाहर नहीं आए लेकिन फिर उन्हें उनकी पत्नी ने संभाला और बाद में सब ठीक हो गया।

दादा लेट लतीफ

साल 2001 में ऑस्ट्रेलिया के साथ हुए मैच में Sourav Ganguly हमेशा टॉस के लिए लेट आते थे। साथी टीम ऑस्ट्रेलिया के कप्तान को बहुत बार इंतजा करना पड़ता था इससे वे परेशान हो गए और गांगुली को घमंडी कह दिया था।

टीम के कारण सस्पेंड

Sourav Ganguly

साल 2001 में Sourav Ganguly को सस्पेंड किया गया था। साउथ अफ्रीका के खिलाफ हुए एक टेस्ट मैच में रैफरी ने उनके ऊपर टीम को काबू में ना कर पाने का आरोप लगाया और फिर एक मैच के लिए उन्हें सस्पेंड कर दिया गया था। इससे पहले गांगुली कई बार सस्पेंड हुए लेकिन इससे वे काफी गुस्से में आ गए थे, लेकिन बीसीसीआई के फैसले के आगे उन्हें झुकना पड़ा था।

जब खुद बन गए अम्पायर

साल 1998 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे मैच में आउट होने के बाद Sourav Ganguly पवेलियन नहीं लौटे। वे पिच पर डटे रहे और इसके कारण उन्हें एक मैच से बाहर करने का फैसला लिया गया। गांगुली ऐसे ही ना जाने कितनी बार अपनी दादागिरी दिखा चुके हैं।

यह भी पढ़ें-बायोग्राफी फिल्म से कितने अलग हैं MS Dhoni? जानिए धोनी से जुड़ी कुछ अनसुनी बातें