मां के लिए Govinda ने छोड़ दिया था अपना प्यार, जानिए इनसे जुड़ी अनसुनी बातें

0
17

बॉलीवुड के सुपरस्टार Govinda ने अपने करियर में बहुत सारी सुपरहिट फिल्में दीं और बहुत ऊंचा मुकाम देखा. मगर ऐसा क्या हुआ कि गोविंदा एक दम से फ्लॉप होने लगे और उनकी एक के बाद एक फिल्में बुरा असर छोड़ने लगी. गोविंदा ने डेविड धवन, कादर खान और शक्ति कपूर के साथ ज्यादा फिल्में की हैं. गोविंदा अपने एक्सप्रेशन के साथ डांस और बेहतरीन एक्टिंग के लिए इंडस्ट्री में पहचाने जाते हैं. इस साल गोविंदा अपना 56वां जन्मदिन मना रहे हैं और इस मौके पर हम आपको उनके जीवन से जुड़ी कई बातें बताएंगे.

गोविंदा का शुरुआती जीवन | Govinda Biography in Hindi

21 दिसंबर, 1963 को मुंबई में जन्में गोविंदा के पता अरुण आहुजा एक बिजनेसमैन थे, इन्होंने एक फिल्म का निर्माण किया था लेकिन उसमें बहुत घाटा हुआ. गोविंदा की मां निर्मला आहुजा एक अभिनेत्री और गायिका थीं. गोविंदा की तीन बहनें और एक भाई हैं, जिनमें से गोविंदा अपनी मां से सबसे ज्यादा प्यार करते हैं. गोविंदा अपने भाई-बहनों में सबसे छोटे हैं इसलिए प्यार से उन्हें चीची बुलाया जाता है. गोविंदा मुंबई के वसाई के एक कॉलेज में कॉमर्स साइड से स्नातक की पढ़ाई किए हैं. उनके पिता ने गोविंदा को करियर बनाने की सलाह दी थी. फिल्मों में करियर बनाने की सोच रखते हुए उन्होंने डिस्को डांसर (1982) देखी फिर अपने डांस मूव्स की एक कैसेट बनाई. फिर गोविंदा ने एक के बाद एक प्रोड्यूसर का दरवाजा खटखटाते रहे लेकिन उन्हें काम नहीं मिलता था. बाद में गोविंदा को पहली नौकरी एक विज्ञापन के तौर पर मिली.

गोविंदा का फिल्मी करयर | Govinda FilmyCareer

गोविंदा के अंकल आनंद द्वारा निर्देशित एक फिल्म में गोविंदा को एक छोटा सा रोल बड़ी मुश्किल से मिल गया था. इसके बाद साल 1985 में लव 86 की शूटिंग की. जून में आई इस फिल्म को लोगों ने खूब पसंद किया और एक महीने के अंदर गोविंदा ने 40 और फिल्में साइन कर ली थी. इसके बाद गोविंदा ने खुदगर्ज (1987), दरिया दिल (1988), घर घर की कहानी (1988), हत्या (1988) जैसी सुपरहिट फिल्में दीं. इसके नसीब (1997), हम (1991), हद कर दी आपने (2000), महाराजा (1998), आंटी नंबर-1 (1998), भागम भाग (2006), खुद्दार (1994), जोरू का गुलाम (2000), परदेसी बाबू (1998), आंदोलन (1995), छोटे सरकार (1996), आग (1994), आदमी खिलौना है (1993), दुलारा (1994) जैसी करनी वैसी भरनी (1989) जैसी सफल फिल्में की हैं. गोविंदा ने अब तक लगभग 250 फिल्में की हैं.

गोविंदा और डेविड धवन की जोड़ी | Govinda and David Dhawan

साल 1989 में गोविंदा ने डेविड धवन की फिल्म ताकतवर में पहली बार काम किया. फिल्म हिट हुई तो डेविड धवन ने गोविंदा के साथ और भी कई प्रोजेक्ट्स पर काम किया. इनमें से स्वर्ग (1990) शोला और शबनम (1992), आंखे (1993), राजा बाबू (1994), कूली नंबर-1 (1995), साजन चले ससुराल (1996), बनारसी बाबू (1997), दीवाना मस्ताना (1997), हीरो नंबर-1 (1997), हसीना मान जाएगी (1999), कुंवारा (2000), पार्टनर (2006) जैसी सुपरहिट फिल्में दीं. इसके अलावा बड़े मियां छोटे मियां, एक और ग्यारह, जोड़ी नंबर-1, क्योंकि मैं झूठ नहीं बोलता (2001) जैसी फ्लॉप फिल्में भी दीं.

गोविंदा की पर्सनल लाइफ | Govinda Personal Life

फिल्म लव 86 के सेट पर गोविंदा की मुलाकात एक्ट्रेस नीलम से हुई थी. इसके बाद गोविंदा नीलम को काफी पसंद करने लगे थे, हिम्मत बटोरकर उन्होंने अपनी मां को नीलम के बारे में बताया लेकिन उनकी मां ने गोविंदा के अंकल की सिस्टर इन लॉ सुनीता सिंह को गोविंदा के लिए पसंद कर लिया था. ना चाहते हुए भी गोविंदा ने सुनीता के साथ शादी की. मगर शादी के बाद भी उन्होंने नीलम के साथ काम किया मगर बाद में दोनों काफी दूर हो गए. गोविंदा को एक बेटी टीना आहुजा है जो बॉलीवुड डेब्यु कर चुकी हैं. गोविंदा का बेटा यशवर्धन आहुजा फिल्मी दुनिया से दूर हैं. गोविंदा सुनीता के साथ कई रिएलटी शोज में आ चुके हैं और इनकी बॉन्डिंग आज भी बहुत अच्छी देखने को मिलती है.

गोविंदा से जुड़ी छोटी-बड़ी बातें | Lesser Unknown Facts about Govinda

1. गोविंदा ने कादर खान के साथ 41 फिल्मों में काम किया, और शक्ति कपूर के साथ वह 42 फिल्मों में नजर आए. जबकि गोविंदा, कादर खान और शक्ति कपूर ने एक साथ  22 फिल्मों में काम किया था.

2. गोविंदा के फेवरेट एक्टर धर्मेंद्र हैं, जब इनकी पत्नी प्रेग्नेंट थीं तब गोविंदा ने धर्मेंद्र की तस्वीर अपने कमरे में लगाई थी जिससे बच्चा उनकी तरह सुंदर हो और ताकतवर हो.

3. गोविंदा ने कई फिल्मों में डबल रोल किया है लेकिन हद कर दी आपने में 6 रोल किए हैं जो अब तक एक रिकॉर्ड है.

4. गोविंदा ने हर एक्ट्रेस के साथ काम किया है लेकिन नीलम, करिश्मा कपूर और रवीना टंडन के साथ 10-10 फिल्में की हैं.

5. गोविंदा एक्सप्रेशन के साथ डांस करने के लिए पहचाने जाते हैं और डांस की प्रैक्टिस गोविंदा अपने कमरे में शीशे के सामने किया करते थे. इसके अलाव ‘शोला और शबनम’, ‘आंखे’ और ‘हसीना मान जाएगी’ जैसी फिल्मों में गोविंदा गाना भी गा चुके हैं.

6. सांसद के तौर पर गोविंदा की खूब आलोचना हुई और उनके ऊपर इल्जाम लगा था कि वह अपने क्षेत्र लोगों से मिलते नहीं और उनकी समस्याओं को नजरअंदाज भी करते हैं.

7. 90 के दशक में गोविंदा-डेविड धवन को सफलता की गारंटी माना जाता था. मगर 2000 आते-आते जब गोविंदा डेविड को फ्लॉप फिल्में देने लगे तो डेविड ने उनसे किनारा कर लिया.

8. 2000 आते-आते गोविंदा सुपरस्टार बन चुके थे और उनके पास फिल्मों की लाइन लगी रहती थी. इस कारण उन्होंने ‘गदर: एक प्रेम कथा’, ‘ताल’ और ‘देवदास’ जैसी फिल्में ऑफर की गईं, लेकिन उन्होंने रिजेक्ट कर दी थीं जो बाद में ब्लॉकबस्टर साबित हुई थीं.

9. एक दौर ऐसा भी था जब गोविंदा की साल में 14-14 फिल्में रिलीज होती थीं. उनका स्टारडम अमिताभ बच्चन के करियर को भी छूने वाला था मगर कुछ फ्लॉप फिल्मों ने उन्हें थमने पर मजबूर कर दिया.

10. बॉलीवुड में शीर्ष पर चढ़ने में गोविंदा ने 14 सालों तक मेहनत की थी. फिर साउथ इंडियन के कई एक्टर्स गोविंदा को कॉपी करने लगे थे.

11. गोविंदा फिल्म सेट पर लेट आने के लिए मशहूर थे फिर भी उन्हें फिल्में मिलती थीं क्योंकि गोविंदा के अंदर काम करने का जुनून था. एक बाद एक फिल्म की शूटिंग में उनका सच में एक्सीडेंट हो गया था. काफी खून बह रहा था लेकिन उन्होंने शूट कैंसिल नहीं किया और आधी रात कर शूटिंग खत्म करने के बाद डॉक्टर के पास गए.

12. गोविंदा ने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि उनकी मां की कही बात उनके लिए पत्थर की लकीर होती थी. इसके लिए उन्होंने अपना पहला प्यार छोड़ दिया था. जब भी गोविंदा अपने काम पर जाते थे तब मां का आशीर्वाद लेकर ही निकलते थे.

यह भी पढ़ें- शुरुआती समय में संघर्ष के बाद इस तरह पलटी थी Amitabh Bachchan की किस्मत