क्यों मनाते हैं Indian Army Day? जानिए भारतीय सेना से जुड़ी 15 महत्वपूर्णं बातें



Indian Army Day kyu Manate Hain- भारतीय आर्मी का नाम सुनते ही हर भारतीय का सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है, ऐसा इसलिए क्योंकि सेना के जवान देश की रक्षा करने के लिए अपनी जान की परवाह भी नहीं करते हैं। इस साल देश अपना 18वां सेना दिवस यानी Indian Army Day 2022 मना रहा है और इस खास अवसर पर सैन्य परेडों, सैन्य प्रदर्शनियों व दूसरे कई कार्यक्रम के साथ ही दिल्ली में बने सभी सेना मुख्यालयों में इस दिन को मनाया जाता है। सेना दिवस के अवसर पर पूरा देश थल सेना की वीरता, अदम्य साहस, शौर्य और उसकी कुर्बानी को याद करता है। हर साल 15 जनवरी को फील्ड मार्शल केएम करियप्पा के सम्मान में Army Day मनाया जाता है।

क्यों मनाते हैं भारतीय सैन्य दिवस? | Indian Army Day kyu Manate Hain

Indian Army Day kyu Manate Hain
इंडियन आर्मी को समर्पित डाक टिकट

साल 1949 में आज ही के दिन भारत के अंतिम ब्रिटिश कमांडर-इन-चीफ जनरल फ्रांसिस बुचर की जगह तत्कालीन लेफ्टिनेट जनरल के एम करियप्पा में ली थी और इन्होंने साल 1947 में भारत-पाक के बीच हुए युद्ध में भारतीय सेना की कमान संभाल कर उसका नेतृत्व किया था। आजादी के बाद देश में कई प्रशासनिक समस्याएं पैदा हुई और फिर स्थिति को नियंत्रित करना मुश्किल होने लगा। इस स्थिति को काबू करने के लिए सेना को आगे आना पड़ा और भारतीय सेना के अध्यक्ष तब भी ब्रिटिश मूल के हुआ करते थे। 15 जनवरी, 1949 को फील्ड मार्शल के एम करिअप्पा स्वतंत्र भारत के पहले भारतीय सेना प्रमुख बने और उस समय सेना में करीब 2 लाख सैनिक शामिल थे। केएम करियप्पा सेना के प्रमुख बनाए गए और इसके बाद हर साल 15 जनवरी को सेना दिवस मनाया जाता है।



केएम करियप्पा को फील्ड मार्शल की उपाधि दी गई थी और भारतीय इतिहास में अभी तक सिर्फ दो लोगों को ये उपाधि मिली है। साल 1947 में करियप्पा ने भारत-पाक युद्ध में पश्चिमी सीमा पर भारतीय सेना का नेतृत्व किया था। साल 1899 में कर्नाटक के कुर्ग में जन्में फील्ड मार्शल करिअप्पा ने सिर्फ 20 साल की उम्र में ब्रिटिश इंडियन आर्मी में नौकरी करने की शुरुआत कर दी थी। साल 1953 में करिअप्पा रिटायर हो गए थे और साल 1993-94 में 94 साल की उम्र में इनका निधन हो गया था।

भारतीय सैन्य के बारे में कुछ अनसुनी बातें | Lesser known facts about Indian Army Day

भारत पर किसी भी तरह की आपदा आई हो भारतीय सेना हमेशा समस्याओं से लड़ने के लिए तैयार रहती है। प्राकृतिक आपदा के समय में भी भारतीय सेना भगवान का दूत बनकर फंसे हुए लोगों की जान बचाने का काम करती है। इसका ताजा उदाहरण हमने जम्मू-कश्मीर में आई बाढ़ में हमने देख लिया है। भारतीय सेना दुनिया की सबसे बड़ी सेनाओं में एक है और ये हमें दुनिया के सामने लड़ने की हिम्मत देती है। दुनियाभर में शांति का संदेश देने वाली भारतीय सेना अपना सबकुछ न्योछावर करके हमेशा उसे कायम रखने में आगे रहती है। आज हम आपको Indian Army Day के बारे में कुछ ऐसी बातें बताएंगे जिन्हें जानकर आपका सर शान से उठ जाएगा और तिरंगे को देखकर आप भी कहेंगे..’जय हिंद’..

1. भारतीय सेना का निर्माण साल 1776 को ईस्ट इंडिया कंपनी ने कोलकाता में किया था। उस समय भारतीय सेना ब्रिटिश भारतीय सेना कहलाती थी।

2. भारतीय सेना में AR, BSF, CISF, CRPF, ITBP, NSG और SSB की कैटेगरी होती है। भारतीय सेना के देशभर में 53 कैंटोनमेंट और 9 आर्मी बेस हैं।



3. इंडियन आर्मी फोर्स में भारतीय सेना, भारतीय वायु सेना, भारतीय नौसेना और भारतीय तट रक्षक शामिल हैं। ये सभी अपनी जान पर खेलकर दुश्मनों से देश की रक्षा करते हैं।

4. भारतीय आर्मी भारत में मीन सागर स्तर (MSL) से 5000 मीटर ऊपर, सियाचिन ग्लेशियर, दुनिया में उच्चतम युद्धक्षेत्र को नियंत्रित करने का काम करता है।

5. भारतीय सैनिकों को ऊंचाई और पर्वत युद्ध में सबसे अच्छा माना जाता है। भारतीय सेना का ऊंचाई युद्ध (HAWS) दुनिया के सबसे कुलीन सैन्य प्रशिक्षण केंद्रों में एक है।

6. भारतीय सेना दुनिया की सबसे बड़ी सेना है और यही वजह है कि भारतीय सेना का लोहा पूरी दुनिया मानती है।

7. भारतीय मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विसेज भारत में सबसे बड़ी निर्माता कंपनी है। भारतीय सेना में घुड़सवारों की भी टुकड़ी है और दुनिया में सिर्फ देशों के पास घुड़सवार सेना उपलब्ध है जिनमें से भारत एक है।

8. असम रायफल्स भारतीय सेना की सबसे पुरानी पैरामिल्ट्री फोर्स है और इसकी स्थापना साल 1835 में ब्रिटिश सरकार के समय में की गई थी।

9. यूनाइटेड नेशंस के शांति अभियान के अंतर्गत भारत दुनिया के किसी भी देश से सबसे बड़ी संख्या में जवानों को भेजता है।

10. बेली ब्रिज दुनिया की सबसे ऊंची ब्रिज है जो लद्दाख में द्रास और सुरू नदी के बीच स्थित है। इसका निर्माण भारतीय सेना द्वारा साल 1982 में कराया गया था।



11. भारत के राष्ट्रपति की सुरक्षा में लगी सेना भारतीय सेना की सबसे पुरानी रेजीमेंट है जो वर्तमान में राष्ट्रपति भवन में ही रहती है।

12. जंगलों में लड़ने के मामले में भारतीय सेना को दुनिया में सबसे बेहतरीन माना जाता है। भारत की इस गुणवत्ता को जानने के लिए अमेरिका, ब्रिटेन और रूस जैसे देश भी इस टुकड़ी को देखने के लिए आते हैं।

Indian Army Day

13. केरल में एझीमाला नौसेना अकादमी है जो कि एशिया में सबसे बड़ी एकेडमी मानी जाती है। भारतीय वायुसेना के पास ताजिकिस्तान में एक स्टेशन का आधार भी है।

14. भारत और पाकिस्तान के बीच हुई ‘लोंगेवाला की लड़ाई’ में सिर्फ दो भारतीय सेना के जवान ही शहीद हुए थे। इस लड़ाई पर आधारित बॉलीवुड फिल्म बॉर्डर है जो सुपरहिट हुई थी।

15. NCC का सर्टिफिकेट होने पर आपको उच्च शिक्षा में अलग कोटा मिल जाता है। NCC का ‘C’ सर्टिफिकेट होने से आपको आर्मी में GD की और NDA की लिखित परीक्षा नहीं देने की छूट मिल जाती है।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *