अग्निपथ स्कीम क्या है? कैसे करें अप्लाई? यहां पाएं इस योजना की पूरी सही जानकारी

भारत में पिछले कई दिनों से अग्निपथ स्कीम पर हर तरफ चर्चा हो रही है. कुछ लोग इस योजना का समर्थन कर रहे हैं तो बहुत से लोग अग्निपथ स्कीम का जमकर विरोध भी कर रहे हैं. देश के अलग-अलग हिस्सों में इसको लेकर बवाल भी हुए हैं लेकिन सोशल मीडिया पर इसको लेकर कई गलत बातें फैल रही हैं. हर किसी को अग्निपथ स्कीम की आधी-अधूरी जानकारी पता है जो सही नहीं है. यहां हम आपको भारतीय फौज (Indian Army) और केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना की जानकारी (Agnipath Scheme full details in Hindi) डिटेल्स में बताएंगे.

क्या है अग्निपथ स्कीम? | Agnipath Scheme full details in Hindi

14 जून, 2022 को केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने अग्निपथ योजना (Agnipath Scheme) की घोषणा की है. इसके अंतर्गत इच्छुक युवाओं को 4 साल के लिए सशस्त्र सेनाओं में कमीशन के तहत भर्ती किया जाएगा. जिस दौरान अग्निवीरों को पहले साल 30 हजार प्रति महीना से लेकर चौथे साल 40 हजार प्रति महीना वेतन के रूप में दिया जाएगा. इसके अलावा जोखिम, राशन, वर्दी और यात्रा के लिए भत्ता भी मिलेगा. इस योजना के तहत अधिकारियों से नीचे रैंक वाले व्यक्तियों के लिए रिक्रुटमेंट प्रोसेस शामिल किया गया है. जिसके तहत 75 प्रतिशत जवानों की भर्ती सिर्फ 4 सालों के लिए होगी. योजना में भर्ती होने वाले सैनिकों को अग्निवीर नाम से संबोधित किया जाएगा. इसमें केवल 25 फीसदी को ही अगले 15 सालों के लिए सेवा में रखा जाएगा और बाकियों को चार साल के बाद नौकरी छोड़नी होगी.

अग्निपथ योजना में कौन कर सकता है अप्लाई? | Agnipath Recruitment 2022

अग्निवीरों को फुल ट्रेनिंग मिलेगी. (Photo Credit: Pixabay)

अग्निपथ योजना के तहत भर्ती के लिए युवाओं की उम्र 17 साल से 23 साल के युवाओं में महिलाएं और पुरुष भर्ती के लिए अप्लाई कर सकते हैं. सेना भर्ती के लिए निर्धारित शैक्षणिक योग्यता 12वीं पास होनी चाहिए. फिजिकल स्टैंडर्ड और फिजिकल एफिशिएंसी टेस्ट के आधार पर ही चयन हो सकेगा. जो 4 वर्षों के लिए अग्निवीर बनकर सेना में अपनी सेवा दे पाएंगे. इस योजना के तहत हर साल करीब 45 हजार युवाओं की भर्ती होगी. ये भर्तियां मेरिट और मेडिकल टेस्ट के आधार पर होंगी. चुने गए युवाओं को 4 साल के लिए सेना में सेवा का मौका दिया जाएगा और इन सालों में अग्निवीरों को 6 महीने की बेसिक ट्रेनिंग भी मिलेगी.

क्या है अग्निवीरों का सैलरी पैकेज? | Agnipath Scheme Salary Package

अग्निवीर सैलरी पहले साल: अग्निपथ योजना में भर्ती होने वाले युवाओं को हर महीने 30 हजार रुपये सैलरी के तौर पर मिलेगा. इस सैलरी में से हर महीने सेवा निधि कोष (Service Fund) के लिए 9 हजार रुपये की कटौती होगी. सेवा निधि कोष में सरकार की तरफ से इतनी ही राशि का योगदान होगा. कटौती के बाद अग्निवीरों को हर महीने 21,000 रुपये सैलरी इन-हैंड मिलेगी.

अग्निवीर सैलरी दूसरे साल: अग्निपथ योजना में भर्ती के जब दो साल पूरे होंगे तो अग्निवीरों की सैलरी में 10 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी होगी. अग्निवीरों की सैलरी दूसरे साल 33,000 रुपये प्रति माह होगी. दूसरे साल में उनकी सैलरी में हर महीनिे सेवा निधि कोश के लिए 9,900 रुपये काट लिए जाएंगे. सरकार की तरफ से भी इतना पैसा योगदान के रूप में दिया जाएगा. इसके बाद अग्निवीरों को 23,100 रुपये इन-हैंड सैलरी हो जाएगी.

अग्निवीर सैलरी तीसरा साल: जब अग्निवीरों का तीसरा साल इस सेवा में होगा तो उकी मासिक सैलरी 36,500 रुपये होगी. इसमें 10,950 रुपये सेवा निधि कोष में जाएगा और हमेशा की तरह सरकार भी इसमें अपना इतना ही योगदान देगी. इस तरह से अग्निवीरों को इन-हैंड सैलरी 25,550 रुपये मिलेगी.

अग्निवीर सैलरी चौथा साल: अग्निपथ योजना में सेवा करते जब चौथा साल हो जाएगा तो सैनिक को सैलरी के रूप में 40,000 रुपये प्रति माह होगी. उकी सैलरी में चौथे साल सेवा निधि कोष के लिए 12, 000 रुपये कटौती होगी. एक बार फिर सरकार उतनी ही धनराशि जमा करेगी. अग्निवीर को इन-हैंड सैलरी 28,000 रुपये मिलेगी.

4 वर्षों की सर्विस के बाद कुल बचत 5.02 लाख रुपये की होगी. सरकार इतनी ही राशि का योगदान करेगी. राशि पर जो भी ब्याज होगा वो मिलेगा. वेतन में जो भी कटौती हुई है और सरकार ने जो भी योगदान दिया है तो सब मिलाकर लगभग 11.71 लाख रुपये जमा होंगे. इस पैस पर किसी तरह का टैक्स ना लगेगा तो इन चार सालों में युवा को अग्निवीर का टैग और 11.71 लाख रुपये मिलेंगे.

अग्निवीरों को मिलने वाली सुविधाएं | Facilities will Agniveers get

अग्निवीरों को कई सुविधाएं मिलेंगी. (Photo Credit: Pixabay)

1. मासिक वेतन के साथ अग्निवीरों को हार्डशिप अलाउंस, यूनिफॉर्म अलाउंस, कैंटीन और मेडिकल सुविधाएं मिलेंगी. अग्निवीरों को ट्रैवेल के लिए अलाउंस मिलेगा.

2. साल में 30 दिनों की छुट्टी मिलेगी, मेडिकल लीव अलग से मिलेगा जो कि मेडिकल चेकअप पर निर्भर होगा.

3. अग्निपथ योजना में चयन की प्रक्रिया 24 जून से शुरू होगी. 2022 के लिए अग्निपथ योजना के तहत इंडियन एयरफोर्स के लिए भर्ती होगी जिसकी उम्र 23 वर्ष है.

4. चार सालों तक सेवा देने के दौरान अगर अग्निवीर की मृत्यु हो जाती है तो उन्हें बीमा कवर मिलेगा. परिवार को करीब 1 करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान होगी.

5. ड्यूटी के दौरान अगर अग्निवीर विकलांग होते हैं तो एक्स-ग्रेशिया 44 लाख रुपये मिलेंगे, इसके साथ ही उनकी जितनी नौकरी बची है उसकी पूरी सैलरी और सेवा निधि का पैकेज भी दिया जाएगा.

6. अग्निवीरों का कुल 48 लाख का इंश्योरेंस है. ड्यूटी पर शहीद होने पर एकमुश्त राशि सरकार की तरफ से 44 लाख रुपये मिलेंगे. जितनी नौकरी बची होगी उसकी पूरी सैलरी भी परिवार को दी जाएगी.

7. केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (CARF) और असम राइफल्स में होने वाली भर्तियों में 10 प्रतिशत सीटें अग्निवीरों के लिए रिजर्व की जाएंगी. इसमें कैंडिडेट को उम्र में छूट भी मिलेगी.

8. अग्निपथ योजना के जरिए भारतीय सेना, भारतीय नौसेना और भारतीय वायु सेना के लिए 46 हजार सैनिकों की भर्ती होगी. जिसके तहत महिलाओं की भर्ती संबंधित सेवाओं की जरूरतों पर निर्भर होगी.

9. कार्यकाल पूरा होने के बाद अग्निवीरों को नागरिक समाज में शामिल किया जाएगा जहां वे राष्ट्र के निर्माण में अपना योगदान दे सकेंगे. हर अग्निवीरों के कौशल के आधार पर यूनिक बायोडाटा का हिस्सा बनाने के लिए एक सर्टिफिकेट मिलेगा.

10. सेवा से मुक्त होने के बाद अग्निवीरों को रोजगार मिलेगा. असम राइफल्स, केंद्रीय विभागों जैसे रेलवे, डाक, स्वास्थ्य और खेस विभाग में प्राथमिकता मिलेगी. उत्तर प्रदेश सरकार ने अग्निवीरों को यूपी पुलिस और होम गार्ड में भर्ती की वरीयता दी है. वहीं मध्य प्रदेश में भी राज्य पुलिस की भर्ती में अग्निवीरों को वरीयता मिलेगी.

इसे भी पढ़ सकते हैं: क्यों मनाते हैं Indian Army Day? जानिए भारतीय सेना से जुड़ी 15 महत्वपूर्णं बातें

Rating