राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री सहित इन सरकारी कर्मचारियों की मंथली इनकम क्या है?



आज के युवा सिविल सर्विसेस या किसी भी सरकारी संस्थान में भर्ती होने के लिए पढ़ाई करते हैं, उसके लिए तैयारी करते हैं. इस दौरान करेंट अफेयर्स से जुड़ी बातों को उन्हें पढ़ना होता है. अक्सर ये सवाल आ जाता है कि PM ki Salary kitni Hoti Hai या President of India ki Salary kya hai और आज हम आपको ना सिर्फ प्रधानमंत्री या राष्ट्रपति की इनकम के बारे में बताएंगे बल्कि यहां हम आपको कुछ दूसरे सरकारी ऑफिसर्स की Monthly Income के बारे में भी बताएंगे.

PM aur Rashtrapati ki Salary kitni Hoti Hai

प्रधानमंत्री को कितना वेतन मिलता है?

पीएम का वेतन 1 लाख 80 हजार रुपये प्रति महीना है. इसमें 50,000 रुपये बेसिक सैलरी, व्यय भत्ता 3000 रुपये और निर्वाचन भत्ता 45,000 रुपये मिलता है. वहीं, प्रधानमंत्री को 2,000 के हिसाब से रोजाना भत्ता भी शामिल है. PM ki Salary kitni Hoti Hai यह सवाल लोग अक्सर पूछते हैं.



राष्ट्रपति की सैलरी कितनी है?

भारत के राष्ट्रपति को पहला नागरिक कहते हैं. भारत में राष्ट्रपति का वेतन 5 लाख रुपए प्रतिमाह है. मासिक वेतन के अलावा, भारत के राष्ट्रपति को कई भत्ते भी मिलते हैं.

PM aur Rashtrapati ki Salary kitni Hoti Hai
भारत के वर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.

राज्य के मुख्यमंत्री को कितनी सैलरी मिलती है?

वर्तमान में भारत में 28 राज्या और 9 केंद्रशासित प्रदेश हैं. भारत में मुख्यमंत्रियों का वेतन एक राज्य से दूसरे राज्य में अलग-अलग होता है. देश के सबसे बड़े राज्य उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की सैलरी 3,65,000 रुपये है, दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल की सैलरी 3,90,000 रुपये है जबकि देश में सबसे कम सैलरी 1,05,000 रुपये सैलरी त्रिपुरा के मुख्‍यमंत्री को दी जाती है. वहीं दूसरे राज्यों में मुख्यमंत्रियों को 2 लाख 50 हजार से ऊपर सैलरी दी जाती है.



राज्य के गवर्नर का वेतन: 30 लाख 50 हजार रुपये प्रति महीना.
सुप्रीम कोर्ट के जज का वेतन: 2 लाख 50 हजार रुपये प्रति महीना.
उपराष्ट्रपति की वेतन: 4 लाख रुपये प्रति महीना.
UPSC चेयरमैन का वेतन: 2 लाख 50 हजार रुपये प्रति महीना.
IAS Officer का वेतन: 56 हजार रुपये से 1 लाख रुपये प्रति महीना.

यह भी पढ़ें: ‘सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है’ यह नारा किसने दिया था?

Leave a Reply

Your email address will not be published.