PM Modi Birthday Special: नरेंद्र मोदी कैसे बने देश के सबसे मजबूत पीएम ?

Narendra Modi Biography– देश के प्रतिष्ठित न्यूज चैनल एबीपी न्यूज ने करीब 11 हजार लोगों के साथ देशभर में मोदी सरकार के 100 दिनों के कार्यकाल को लेकर एक सर्वे किया। इस सर्वे में ज्यादातर लोगों ने Narendra Modi को आजाद भारत का सबसे दमदार प्रधानमंत्री बताया गया है। नरेंद्र मोदी ऐसी सख्शियत हैं जो देश या विदेश हर जगह प्रसिद्ध हैं। पीएम मोदी भारत के 15वें प्रधानमंत्री हैं और उन्होंने अपने कार्याकाल के दौरान कई महत्वपूर्ण और ऐतिाहसिक फैसले लिए हैं। साल 2014 के लोकसभा चुनाव में भारी मतों से विजयी होने वाले मोदी ने साल 2019 में हुए लोकसभा चुनाव में भी बहुमत हासिल की थी। 70 साल के इस प्रधानमंत्री को देश के युवा भी पसंद करते हैं और इनकी कार्यशैली ये है कि मोदी 24 घंटों में 18 घंटे काम करते हैं। ऐसे में आपको PM Modi के बारे में हर बात जरूर जाननी चाहिए।



Narendra Modi

नरेंद्र मोदी का शुरुआती जीवन | About Narendra Modi

Narendra Modi Biography
नरेंद्र मोदी, फोटो सभार: BJP Official

17 सिंतबर, 1950 को गुजरात राज्य के मेहसाना जिले के एक छोटे शहर वडनगर में नरेंद्र दामोदरदास मोदी का जन्म हुआ था। उस समय ये बॉम्बे में था जो बाद में गुजरात का हिस्सा बना। नरेद्र मोदी के परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी और वे अपने 5 भाई-बहनों में तीसरे नंबर के हैं। उनके पिता की रेलवे स्टेशन पर चाय की दुकान थी और स्कूल से घर आने पर वे अक्सर अपने पिता की मदद के लिए चाय बांटने का काम करते थे। स्टेशन पर आने वाले सैनिकों को देखकर मोदी के मन में हमेशा रहता था कि वे देश के लिए कुछ करें। बचपन के उनके कई किस्से हैं और उन्होंने खुद बताया कि वे काफी शरारती हुआ करते थे। नरेंद्र मोदी ने अपने बचपन के दिनों में काफी कठिनाइयों का सामना किया है लेकिन अपने चरित्र और साहस से उन्होंने सभी चुनौतियों का सामना किया।

18 साल की उम्र में उनके माता-पिता ने उनकी शादी जसोदाबेन (Narendra Modi Wife) से कर दी थी जो मोदी नहीं करना चाहते थे। शादी के दो सालों के बाद ही उन्होंने जसोदाबेन की सहमति से घर छोड़़ दिया था।नरेंद्र मोदी की शुरुआती शिक्षा वडनगर के स्थानीय स्कूल से हुई। साल 1967 तक उनकी हायर सेकेंड्री पढ़ाई हो चुकी थी और इसके बाद उनके परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी और वे वैवाहिक जीवन आगे नहीं बढ़ा सकते थे इसलिए उन्होंने घर छोड़ दिया।

नरेंद्र मोदी का राजनीतिक करियर (Political career of Narendra Modi)

Narendra Modi Biography
नरेंद्र मोदी की पुरानी तस्वीर

साल 1987 में नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने के बाद रैंक के माध्यम से तेजी से आगे बढ़ते गए। सभी जानते थे कि नरेंद्र मोदी एक बुद्धिमान व्यक्ति रहे हैं और उन्होंने व्यवसायों, छोटे सरकारी और हिंदू मूल्यों के निजीकरण को हमेशा बढ़ावा ही दिया। इसी साल वे भाजपा के गुजरात ब्रांच के महासचिव चुने गए थे। साल 1990 में एल के आडवानी की अयोध्या रथ यात्रा के संचालन में मदद करने के बाद पार्टी में नरेंद्र मोदी की क्षमताओं को मान्यताएं मिली और उनका पहला राष्ट्रीय स्तर का राजनीतिक कार्य बना। साल 1991-92 में मुरली मनोहर जोशी के साथ एकता यात्रा भी की और इसी दौरान आतंकियों के धमकाने पर भी नरेंद्र मोदी जोशी जी के साथ कश्मीर के लाल चौक पर तिरंगा फहराने पहुंच गए थे। साल 2001 में नरेंद्र मोदी ने पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ा था और राजकोट में 2 सीटों से जीत हासिल की थी।

इसके बाद गुजरात के मुख्यमंत्री बन गए, दरअसल उस समय केशुभाई पटेल का स्वास्थ्य खराब था तो अटल बिहारी बाजपेयी ने मोदी जी को सीएम बनने का सुझाव दिया। इसके बाद बीजेपी से गुजरात के पीएम नरेंद्र मोदी बने और 7 अक्टूबर, 2001 को मोदी ने शपथ ली थी। इसके बाद उनकी हर चुनाव में जीत होती चली गई। साल 2002 में राजकोट द्वितीय निर्वाचन क्षेत्र के लिए उपचुनाव जीता और उन्होंने कांग्रेस के अश्विन मेहता को करीब साढ़े 14 हजार वोट से हराया था। नरेंद्र मोदी ने गुजरात में तीन बार मुख्यमंत्री पद को हासिल किया और जनता में इन्हें लेकर अलग ही उत्साह रहता था। इसके बाद साल 2014 के विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) को प्रधानमंत्री के उम्मीदवार के रूप में तत्कालीन पीएम मनमोहन सिंह के सामने खड़ा किया था। उस दौरान बीजेपी के नरेंद्र मोदी ने बहुमत हासिल की और वे सबके चहेते पीएम बन गए। इस दौरान उन्होंने नोटबंदी, जीएसटी जैसे कानून बनाए, उरी और पुलवामा हमले के जवाब में सर्जिकल स्ट्राइक करवाया था, इसके अलावा आगे चलकर कई बदलाव के जनता से वादे किए।

फिर साल 2019 लोकसभा चुनाव में भी नरेंद्र मोदी ने भारी बहुमत हासिल की और इस बार अब तक उन्होंने तीन तलाक पर विशेष कानून और जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाया। हालांकि मोदी जी के बारे में बहुत सारी हास्य बातें भी सोशल मीडिया पर लिख दी गईं जिसमें Narendra Modi Jokes और कुछ उनके वीडियोज को तोड़-मरोड़कर दिखाया गया लेकिन उनके सत्ता में बैठे होने के कारण कोई उन्हें ऑफिशिय़ली कुछ नहीं कह पाता है।

गुजरात दंगे करवाने में नरेंद्र मोदी का हाथ

Narendra Modi Biography
नरेंद्र मोदी

साल 2002 में Shri Narendra Modi के उपचुनाव जीतने के 3 दिन बाद गुजरात में सांप्रायिक हिंसा की शुरुआत होगी. इसके परिणामस्वरूप 58 लोगों की हत्या कर दी गई थी। उस सयम गोधरा के पास सैकड़ों यात्रियों से भरी एक ट्रेन में आग लगा दी थी जिसमें ज्यादातर हिंदू यात्री ही थे। इस घटना से मुस्लिमो के विरोध में ये हुई थी इससे ये दंगा पूरे गुजरात में फैल गया और फिर ये खबर आई कि इसके पीछे नरेंद्र मोदी का हाथ था। गुजरात में सांप्रदायिक दंगे होने से लगभग 2000 लोगों की जान गई थी। इस दौरान राज्य में मोदी की ही सरकार थी इसके कारण आक्रोशित लोगों के हल्ला मचाने से मोदी को इस पद से इस्तीफा देना पड़ा था। फिर साल 2009 में इस संबंधित सुप्रीमकोर्ट में बैठक हुई और सभी जांच को अच्छे से करने का आदेश आया।



लगभग 1 साल तक जांच चली फिर इस मामले में नरेंद्र मोदी को क्लीन चिट मिली कि इसमें उनका कोई हाथ नहीं था। हालांकि साल 2013 में इस जांच दल के ऊपर आरोप लगाया गया था कि इस बेंच ने मोदी के खिलाफ मिले सबूतों को छिपाया गया है। बता दें जब नरेंद्र मोदी पर केस चल रहा था तब उन्हें देश के बाहर जाने की इजाजत नहीं थी और अमेरिका ने तो उनके ऊपर रोक लगा थी लेकिन आज आलम ये है कि पीएम मोदी को कई बार सम्मान के साथ बुलाया गया और पहली बार बराक ओबामा (Barack Obama) ने उन्हें अमेरिका आने का न्यौता दिया था।

नरेंद्र मोदी की योजनाएं (Narendra Modi Yojana)

Narendra Modi Biography
नरेंद्र मोदी, फोटो सभार : PMO

1. प्रधानमंत्री जन-धन योजना

2. स्वच्छ भारत मिशन

3. संसद आदर्श ग्राम योजना

4. प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना

5. प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना

6. पहल जिसमें एलपीजी सब्सिडी

7. मुद्रा बैंक योजना

8. प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना

9. धान मंत्री उज्ज्वल योजना

10. मेक इन इंडिया

11. गरीब कल्याण योजना

12. ई-बस्ता

13. सुकन्या समृद्धि योजना

14. पढ़े भारत बढ़े भारत

15. डीडीयू (दीन दयाल उपाध्याय) ग्रामीण कौशल्या योजना (‘कौशल भारत’ मिशन के हिस्से के रूप में ग्रामीण युवाओं को व्यावसायिक प्रशिक्षण)

16. नयी मंजिल योजना

17. स्टैंड अप इंडिया

18. अटल पेंशन योजना

19. प्रधान मंत्री सुरक्षा बीमा योजना

20. जीवन ज्योति बीमा योजना

21. स्कूल नर्सरी योजना

22. भारत में स्मार्ट नगर

23. रुर्बन मिशन जिसमें गांवों में आधुनिक सुविधाएं

24. प्रधान मंत्री आवास योजना

25. जन औषधि योजना

26. डिजिटल इंडिया

27. ऑनलाइन दस्तावेज़ सुरक्षित जिसे आमतौर पर डिजिलॉकर

28. सागर माला परियोजना



नरेंद्र मोदी के बारे में संक्षिप्त में बातें

Narendra Modi Biography
नरेंद्र मोदी, फोटो साभार: AAJ Tak

1. नरेंद्र मोदी बचपन से ही भारतीय आर्मी में शामिल होना चाहते थे और उन्होने कोशिश भी की थी लेकिन वित्तिय स्थिति अच्छी नहीं होने के काण उन्हें एडमिशन नहीं मिल पाया था।

2. 18 साल की उम्र में नरेंद्र मोदी ने घर छोड़ दिया था और वे भारत के अलग-अलग हिस्सों में यात्रा करने के लिए निकल पड़े थे।

3. प्रधानमंत्री मोदी ने अपना अधिकारिक निवास अपने किसी भी परिवार के साथ शेयर नहीं किया है। उनका कहना है कि ये उनके काम करने का स्थान है यहां वे घूमने आ सकते हैं लेकिन रहने नहीं।

4. नरेंद्र मोदी स्वामी विवेकानंद जी को बहुत मानते हैं और उनके महान अनुयायी भी हैं। इसके अलावा वे अटल बिहारी बाजपेयी को भी बहुत मानते हैं।

5. बराक ओबामा के बाद नरेंद्र मोदी के ट्विटर पर दुनिया में सबसे ज्यादा फॉलोवर्स हैं। इनके लगभग 12 मिलियन से ज्यादा फॉलोवर्स हैं और बता दें कि बराक ओबामा के पीएम मोदी बहुत अच्छे दोस्त हैं।

6. जब नरेंद्र मोदी बीजेपी (Narendra Modi BJP) में सिर्फ एक कार्यकर्ता थे तब उन्होंने सफाई से लेकर खाना बनाने तक का सभी काम खुद ही किया है। इंटरनेट पर उनकी कई तस्वीरें उपलब्ध हैं।

7. साल 2016 में लंदन के मेडम तुषाद म्यूजियम में नरेंद्र मोदी का एक वैक्स स्टेचु बनाया गया था। इस दौरान नरेंद्र मोदी के अंगों का माप लेने मेडम तुषाद की स्पेशल टीम यहां आई थी।

8. नरेंद्र मोदी को उनके ड्रेसिंग सेंस और दिल को छू जाने वाले भाषण के लिए सबसे ज्यादा जाना जाता है। उनहें पारंपरिक पोशाक सबसे ज्यादा पसंद है।



9. नरेंद्र मोदी सिर्फ शाकाहारी भोजन ही करते हैं। साहित्य में, योग करने और पढ़ने की चीजें पसंद हैं। नेताओं में स्यामा प्रसाद मुखर्जी और अटल बिहारी बाजपेयी उनके आदर्श हैं।

10. अपने काम के 13 सालों के दौरान नरेंद्र मोदी ने छुट्टी नहीं ली और वे 24 घंटों में सिर्फ 5 घंटे ही सोते हैं वरना 18 घंटों तक काम करते हैं।

यह भी पढ़ें- दिल्ली के राजीव भाटिया कैसे बने बॉलीवुड के Akshay Kumar? जानिए इनका सफर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *