Dil Bechara Movie Review: आखिरी फिल्म में जिंदगी जीने का हुनर सिखा गए SSR

बॉलीवुड के टैलेंट एक्टर Sushant Singh Rajput की आखिरी फिल्म Disney+ Hotstar पर स्ट्रीम करने लगी है। सुशांत के सभी फैन अपने-अपने लैपटॉप, स्मार्ट टीवी और फोन के सामने बैठ गए होंगे और फिर एक इमोशन को संभालते हुए आखिरी में रो दिए होंगे। कुछ ऐसा ही दिखाया फिल्म दिल बेचारा के हर एक सीन में , इस फिल्म में आपको रोमांस, ड्रामा और ढेर सारा इमोशन देखने को मिलेगा। फिल्म में एक ऐसा सीन आता है जब आप सुशांत की रियल लाइफ से उस सीन को कनेक्ट करने लगेंगे, हम आपको Dil Bechara Movie Review के जरिए फिल्म के बारे में कुछ बताएंगे।



ऐसा है Dil Bechara Movie Review

फिल्म दिल बेचारा में सुशांत सिंह राजपूत को आखिरी बार देखना उनके परिवार वाले, फैंस और दोस्तों के लिए आसान नहीं रहा होगा। फिल्म की कहानी कहीं ना कहीं सुशांत की असल जिंदगी से मेल खाती है। फिल्म की कहानी मैनी (Sushant Singh Rajput) और केज़ी बासु (Sanjana Sanghi) के ईर्द-गिर्द ही घूमती है, फिल्म के एंड में आप सुशांत को बहुत ज्यादा मिस करेंगे और हो सकता है कि आपकी आंखों से आंसू थमे ही नहीं। फिल्म के देखने के बाद आप काफी टाइम तक उनकी Killer Smile भूल नहीं पाएंगे क्योंकि सुशांत एक खूबसूरत मुस्कुराहत के मालिक थे ये हम सभी जानते हैं। फिल्म का निर्देशन मुकेश छाबड़ा ने किया है जो कास्टिंग डायरेक्टर हैं। उन्हें यकीन था कि इस इमोशनल फिल्म के लिए सुशांत की एक्टिंग कमाल कर जाएगी। इसके अलावा फिल्म का म्यूजिक ऑस्कर विनर ए आर रहमान ने दिया है जो फिल्म को और इमोशनली स्ट्रॉंग बनाती है। फिल्म का क्लाइमैक्स आपको रुला देगा इसकी गारंटी है क्योंकि फिल्म के एंड के बाद से कुछ समय तक आपके मन में एक सवाल रहेगा कि क्या बॉलीवुड में सुशांत सिंह राजपूत जैसा टैलेंटेड एक्टर फिर कोई बन पाएगा?

Dil Bechara Movie Review
Dil Bechara Movie Review

फिल्म दिल बेचारा से हम सभी को एक सीख मिलती है कि जन्म तो ईश्वर देता है, मरने का भी अपना कोई फिक्स नहीं है लेकिन हम सभी अपने तरीके से जिंदगी जी तो सकते हैं। फिल्म के आखिरी में भी सुशांत कुछ ऐसा ही डायलॉग बोलते हैं, जो दिल छू जाता है। जिंदगी में कितना भी गम क्यों ना हो भले ही आप किसी बीमारी से मरने वाले हों या खुश ना हों लेकिन दूसरों को खुशी देकर उन्हें जीने का तरीका तो सीखा ही सकते हैं। जिंदगी में जो भी पल मिलते हैं उन्हें हंसते हुए स्वीकार कर लेना चाहिए क्योंकि ऊपर वाला जो भी हमें देता है हमारे भले के लिए ही है शायद…

कैसी है फिल्म की कहानी | Dil Bechara Movie Story

जैसा कि हम सबने Dil Bechara Trailer में देख चुके हैं कि एक्ट्रेस संजना सांघी जो फिल्म में केज़ी बासु का किरदार निभा रही हैं उन्हें कैंसर होता है। सभी का ये माइंडमेकअप हो गया होगा कि फिल्म में एक्ट्रेस की मौत हो जाती होगी लेकिन सेकेंड हाफ में फिल्म अलग ही मोड़ लेती है। फिल्म में Sushant Singh Rajput ने मैनी का किरदार निभाया है जो एक गंभीर बीमारी से जूझ रहा होता है लेकिन जिंदगी को खुलकर जीने में विश्वास रखता है। अपने बेस्ट फ्रैंड जेपी के साथ हर तरह का मजाक करता है और उसकी एक फिल्म का सपना भी पूरा करना चाहता है। तभी उसकी मुलाकात संजना सांघी यानी केज़ी बासु से होती है, जिसे कैंसर होता है और उसकी जान कब चली जाए ये नहीं पता होता। उसके साथ एक ऑक्सीजन बैग 24 घंटे रहता है जिसे वो पुष्पेंद्र कहती है। वो मरने के डर से जीना भूल जाती है लेकिन मैनी उसे खुलकर जीना सिखाता है और केज़ी को लगता है कि मैनी कभी सीरियस नहीं होता। मगर असल में उसे ऑस्टियो सार्कोमा (Osteosarcoma) नाम की बीमारी होती है जो लास्ट लेवल पर कभी भी जा सकती है।

Dil Bechara Movie Review
Dil Bechara Movie Review

केज़ी की आखिरी इच्छा पेरिस (Paris) जाने की होती है जहां वो अपने फेवरेट सिंगर अभिमन्यु वीर यानी सैफ अली खान से मिलती है। मैनी कैसे भी केज़ी की आखिरी इच्छा पूरी करना चाहता है जबकि वो जानता है कि ट्रेवेल करने से उसकी जान को खतरा है। आखिर में मैनी की इस बीमारी से मौत हो जाती है और फिल्म के अंदर एक मैनी के दोस्त जेपी की फिल्म रिलीज होती है जिसमें मैनी और केज़ी हीरो-हीरोइन होते हैं और उसके प्रीमियर पर सभी मैनी को याद करके रोते हैं। ऐसा ही कुछ असल जिंदगी में भी हो रहा होता है जब सुशांत के हर एक स्माइल पर दर्शकों के आंसू बहे होंगे। फिल्म आपको बहुत ही इमोशनल कर देगी और सुशांत की याद और भी आएगी क्योंकि सच में हमने एक सच्चा एक्टर खोया है ये बात और भी सताने लगेगी।



यह भी पढ़ें- क्यों देखनी चाहिए सुशांत सिंह राजपूत की ‘Dil Bechara’? जानिए 6 मुख्य कारण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *