क्या होता है Curriculum Vitae का मतलब? | Curriculum Vitae meaning in Hindi

Curriculum Vitae meaning in Hindi | जब भी हम कहीं नौकरी की बात करते हैं तो सबसे पहले हमारा CV मांगा जाता है मगर बहुत से लोगों को इसका सही मतलब पता ही नहीं होता है. बहुत से लोगों के सामने जब सीवी का नाम आता है तो वे गूगल पर सर्च करके या किसी और से पूछकर पता करते हैं कि सीवी का फुल फॉर्म क्या होता है? बहुत से लोग रिज्यूमे को ही सीवी समझते हैं लेकिन सीवी और रिज्यूमे में काफी फर्क होता है. यहां हम आपको बताएंगे CV kya hota hai और CV kahan jaruri hota hai?



CV क्या होता है? | Curriculum Vitae meaning in Hindi

अगर आप भी Resume और CV को एक ही समझते हैं तो यह आपकी भूल है और ऐसा समझने से आपकी नौकरी मिलने की उम्मीद भी खत्म हो जाती है. दरअसल होता ये है कि हर कम्पनी में हर profile के लिए एक ही Resume/CV को भेजने से Hiring Manager भी irritate होने लगता है. Resume और CV दोनों अलग अलग होते हैं और यह अलग-अलग job profile के लिए काम में आते हैं. वैसे Resume और CV का purpose एक ही होता है लेकिन इसमें अंतर पाया जाता है. सीवी भी रिज्यूमे की तरह ही जॉब एप्लीकेशन की तरह एक डॉक्यूमेंट होता है. CV का full form Curriculum Vitae होता है, इसका लेटिन भाषा में “Course of Life” मतलब है. सीवी एक ऐसा document है, जिसमें आपकी शिक्षा, कार्य अनुभव, उपलब्धियां detail में होती हैं. सीवी में आपकी personal details, research papers, honors, academic details, teaching experiences, research positions, scholarship, awards, grants, presentations, thesis जैसी चीजें लिखी होती हैं.

Curriculum Vitae meaning in Hindi
Curriculum Vitae meaning in Hindi

क्यों होता है सीवी जरूरी? | Why CV is required?

सीवी को देखकर हायरिंग मैनेजेर उम्मीदवार के करियर बैकग्राउंड के बारे में हर बात, हर चीज, हर जानकारी विस्तार से लिखी होती है. सीवी से हायरिंग मैनेजर को उम्मीदवार के करियर प्रोफाइल से कंपनी के जॉब प्रोफाइल को मैच करने से हेल्प हो जाती है. सीवी के आधार पर ही HR फैसला करता है कि कैंडिडेट को इंटरव्यू के लिए बुलाना है या नहीं. आसान शब्दों में कहें तो सीवी किसी इंटरव्यू के लिए एक टिकट के तौर पर काम करता है. 



कहां देते हैं सीवी? Where CV is required?

ज्यादातर सीवी एकेडमिक पोजिशन, टेक्निक, फैकल्टी पोजिशन, असिस्टेंट शिप्स, इंटर्नशिप, ग्रैंट, स्कॉलरशिप, फैलोशिप एप्लीकेशन के लिए दिया जाता है. प्राइवेट नौकरी या इंडस्ट्रियल नौकरियों के लिए सीवी नहीं देते हैं. फ्रेशर्स किसी भी जॉब के लिए सीवी भेज सकते हैं क्योंकि उन्हे वर्क एक्सपीरिएंस नहीं होता है. मगर जब आप 10-15 सालों के अनुभव वाले या किसी जॉब प्रोफाइल में सीनियर लेवल पर जाना चाहते हैं तो वहां सीवी ही भेजा जाता है.

यह भी पढे़ं- IAS के इंटरव्यू में पूछे ज्यादातर पूछे जाते हैं ये 15 | IAS Interview Questions

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *