कभी सड़कों पर पेन बेचकर Johnny Lever करते थे गुजारा, इस तरह बने कॉमेडी किंग

Bollywood में एक से बढ़कर एक कॉमेडियन आए लेकिन जो जगह Johnny Lever की बनी वो शायद ही किसी ने बना पाई हो। जॉनी लीवर कम हाइट, सांवले रंग और अजीबों-गरीब शक्ल बनाकर लोगों को जितना एंटरटेन किया है वो हर किसी के बस की बात नहीं। अपने दम पर इंडस्ट्री में जगह बनाई और इनके आने के बाद कई एक्टर्स ने उनकी कॉपी की लेकिन जॉनी लीवर तो एक ही है ये बात उन्होंने साबित की। 63 साल के हो गए Johnny Lever के संघर्ष की कहानी बहुत ही दिलचस्प और भावुकता से भरी है।



Johnny Lever का शुरुआती सफर

Johnny Lever
जॉनी लीवर एंकर तबस्सुम के साथ

बॉलीवुड के लगभग सभी बड़े दिग्गजों के साथ काम कर चुके जॉनी लीवर ने बहुत साधारण काम से अपने सफर की शुरुआत की थी और मेहनत करके उस मुकाम पर पहुंचे जिसके सपने सभी कॉमेडियन देखते हैं। जन्मदिन के मौके पर हम आपको उनके जीवन से जुड़ी हर छोटी-बड़ी अहम बातें बताएंगे। 14 अगस्त, 1957 को तेलुगू क्रिश्चियन परिवार में जॉनी लीवर का जन्म हुआ था। इनका असली नाम प्रकाश राव जनुमाला है, शुरुआत में इन्होंने हिंदुस्तान लीवर लिमिटेड में काम किया तो वहां इन्हें जॉनी लीवर नाम मिल गया। जॉनी लीवर ने आंध्रप्रदेश के सोसाइटी इंग्लिश स्कूल से 7वीं तक पढ़ाई की लेकिन फाइनेंशियल प्रोबलम के कारण आगे की पढ़ाई नहीं कर सके। फिर इन्होंने डिसाइड किया कि अब आगे ये नहीं पढ़ेंगे और फिर नौकरी के बारे में सोचने लगे।

Johnny Lever
जब नौकरी के साथ स्टेज परफॉर्म करते थे जॉनी लीवर

शुरुआती समय में जॉनी मुंबई आ गए जहां इन्होंने सड़कों पर पेन बेचने का काम किया। अक्सर बॉलीवुड सितारों को देखकर वे उनकी मिमिक्री करने लगे और साथ ही डांस भी करते थे। इसके बाद वे आंध्रप्रदेश के याकुतपुरा में कॉमे़डी स्टाइल में एक्टिंग सीखने आ गए। हिंदूस्तान लीवर लिमिटेड कंपनी में काम करने के दौरान अक्सर फंक्शन्स होते थे तो वहां अपने सीनियल ऑफिसर्स की मिमिक्री करते थे, तभी उनके साथ काम करने वालों ने उन्हें प्रकाश जॉन राव से जॉनी लीवर बुलाना शुरु कर दिया। वहां पर इन्हें किसी ने फिल्मों में कॉमेडी करने की सलाह दी।

जॉनी लीवर का फिल्मी सफर | Johnny Lever Filmy Career

Johnny Lever
फिल्म दुल्हे राजा में जॉनी लीवर

एक्टिंग सीखने के बाद जॉनी ने कई स्टैंडअप कॉमेडी के तौर पर शोज किये। इन्होंने कल्याणजी-आनंजडी ग्रुप ज्वाइन किया। HLL में काम करने के दौरान इन्होंने कई स्टेज शोज कर लिये थे, लेकिन जब उन्हें इससे अच्छी इनकम होने लगी तो साल 1981 में नौकरी छोड़ दी। इसके बाद साल 1982 में इन्हें बॉलीवुड के सुपरस्टार अमिताभ बच्चन के साथ ग्रुप में एक टूर पर जाने का मौका मिल गया। वहां एक्टर सुनील दत्त ने जॉनी लीवर को ग्रुप की भीड़ में जॉनी के टैलेंट को नोटिस किया। उन्होंने जॉनी को अपने ऑफिस बुलाया और कॉमेडी कैसेट रिकॉर्ड कराया और ‘दर्द का रिश्ता’ नाम की फिल्म ऑफर कर दी। कॉमेडी कैसेट ‘हंसी के हंगामे’ खूब बिके और लोगों को इनके जॉक्स खूब पसंद आए। इसके बाद इन्हें शेखर कपूर ने कछुआ छाप का विज्ञापन ऑफर किया। साल 1986 में इन्होंने ‘होप 86’ नाम के चैरिटी शो में परफॉर्म किया और बाद में इन्हें फिल्म जलवा में काम मिला। इसमें लीड रोल में नसरूद्दीन शाह और अर्चना पूरन सिंह थे।



धीरे-धीरे अपनी मेहनत के दम पर जॉनी लीवर ने भारतीय सिनेमा में खास पहचान बनाई और लगभग 350 फिल्मों में काम किया। इनकी सुपरहिट फिल्मों में तेजाब, दुल्हे राजा, बाजीगर, बादशाह, दीवाना-मस्ताना, आमदनी अट्ठनी खर्चा रुपैया, राजा हिंदुस्तानी, जुदाई, हद कर दी आपने, अजनबी, जोरू का गुलाम, कुछ-कुछ होता है, कभी खुशी कभी गम, कुंवारा, नायक, मैं खिलाड़ी तू अनाड़ी, इश्क, खिलाड़ी, कोई मिल गया, यस बॉस, जब प्यार किसी से होता है, अनाड़ी नंबर-1, हमराज, करण-अर्जुन, हाउसफुल, हाउसफुर-2, टोटल धमाल, फिर हेरा-फेरी, गोलमाल-3, गोलमाल अगेन और दिलवाले जैसी फिल्मों के नाम शामिल हैं।

जॉनी लीवर का परिवार | Johnny Lever Family

Johnny Lever
जॉनी लीवर का परिवार

साल 1984 में जॉनी लीवर ने सुजाता लीवर के साथ शादी की थी। इनसे इन्हें बेटी जैमी और बेटा जैस्सी लीवर हैं और ये दोनों स्टैंडअप कॉमेडियन हैं। जॉनी लीवर से जब पूछा गया कि उन्होंने क्रिश्चियन धर्म क्यों अपनाया तो उन्होंने कहा कि जब वे छोटे थे तब वे मंदिर में जाते तो लोग उन्हें गरीब, भिखारी समझकर बाहर कर देते थे, मस्जिद गए वहां भी ऐसा ही हुआ लेकिन जब वे चर्च गए तो उन्हें फादर ने भावपूर्वक बैठाया। इसके कई सालों के बाद जब उनका बेटा जैस्सी थायरॉइट ट्यूमर से जूझ रहा था तब वे बहुत हैल्पलेस हो गए थे और दिन रात सिर्फ गॉड से प्रार्थना करते रहे। उसी दौरान वे दो दिन और तीन रात गॉड के सामने रोते रहे तभी हॉस्पिटल से फोन आया कि उनका बेटा ठीक हो सकता है। ट्रीटमेंट शुरु हुआ और वो ठीक हो गया वो मेरे लिए नयी जिंदगी थी और तब मेरा विश्वास उनमें और बढ़ गया।

Unknown Facts About Johnny Lever

Johnny Lever
Johnny Lever

1. जॉनी लीवर का अपना शो ‘जॉनी आला रे’ था जो जी टीवी पर टेलीकास्ट होता था। इसके अलावा इन्होंने कॉमेडी शो कॉमे़डी सर्कस में जॉनी जज के तौर पर काम कर चुके हैं।
2. 8 दिसंबर, 1998 को जॉनी लीवर को राष्ट्रीय गान और भारतीय संविधान का अपमान करने के लिए 7 दिन की जेल हुई थी लेकिन बाद में इन्हें इन आरोपों से बरी कर दिया गया था।
3. जॉनी लीवर को बॉलीवुड का चार्ली चैपलीन के नाम से भी जाना जाता है, इनके एक्टिंग करने का अंदाज सबसे अलग है और इनकी मिमिक्री सिर्फ इनकी बेटी कर पाती हैं।
4. जॉनी लीवर की नेटवर्थ 190 करोड़ रुपये है, इसके अलावा आंध्रप्रदेश, मुंबई सहित इनके कई घर हैं। फिलहाल वे मुंबई के अंधेरी (वेस्ट) में स्थित 3BHK फ्लैट में रहते हैं।



5. एक इंटरव्यू में जॉनी ने कहा था कि मेरी जगह राजपाल यादव ने ले ली है लेकिन राजपाल यादव ने कहा था कि ये उनका बड़प्पन है असल में जॉनी भाई की जगह कभी कोई नहीं ले सकता।
6. कुछ समय पहले जॉनी लीवर की मृत्यु की खबर सामने आई जिसका खंडन करते हुए उनकी बेटी ने बताया कि उनके पिता बिल्कुल फिट हैं और घर में उनके साथ हैं।

यह भी पढ़ें- संजय दत्त को हुआ Lung Cancer, जानिए क्या होते हैं लक्षण और कैसे होता है इलाज?

Leave a Reply

Your email address will not be published.