Kanpur Metro से जुड़ी ये 10 बातें हर कनपुरिये को जाननी चाहिए



New Year 2022 शुरू होने के बाद से ही उत्तर प्रदेश की सरकार में काफी हलचलें देखने को मिलनी लगेंगी. मगर उसके पहले ही BJP  से योगी सरकार राज्य को मेट्रो की सौगात दे दी है. यूपी में चुनावी माहौल है शुरू होने से पहले कानपुर की जनता को बड़ा तोहफा दिया गया और इससे कनपुरिये खुश भी हैं. 28 दिसंबर को देश के प्रधानमंत्री Narendra Modi ने Kanpur Metro  का उद्घाटन किया. पीएम मोदी (PM Modi) ने उद्घाटन के दौरान कहा कि आज कानपुर के अलावा वरुण देवता भी काफी खुश हैं. कानपुर मेट्रो कहां से शुरू होगी, कहां तक जाएगी और इसका कितनी दूरी पर कितना किराया, यहां हम आपको 10 Facts about Kanpur Metro के बारे में सबकुछ बताएंगे.

कानपुर मेट्रो से जुड़ी 10 बड़ी बातें | 10 Facts about Kanpur Metro

1. कानपुर मेट्रो में तीन डब्बे होंगे जो आईआईटी-कानपुर से मोतीझील तक के लिए प्राथमिकता खंड में चलेगी. ये सेवाएं 29 दिसंबर 2021 से खोली जाएंगीं.

2. दैनिक मेट्रो सेवाएं सुबह 6 बजे से रात 10 बजे तक के लिए उपलब्ध रहेंगी.शुरुआत में क्यूआर कोड से टिकट की सुविधा होगी इसके कुछ समय बाद स्मार्ट कार्ड की सुविधा भी शुरू होगी.

3. कार्ड की फैसिलिटी UPMRC GoSmart कुछ समय बाद जारी करवाएगी जिसमें एक यात्री को 10 फीसदी की छूट प्रदान होगी. यह यात्रियों को संपर्क रहित यात्रा का अनुभव दे सकेगा.

4. कानपुर मेट्रो परियोजना दो कॉरिडोर में शामिल है, जिसकी कुल लंबाई 32.5 किमी है. इसमें पहला कॉरिडोर आईआईटी कानपुर से नौबस्ता 23.8 किमी लंबा होगा, जबकि दूसरा कॉरिडोर चंद्रशेखर आजाद कृषि विश्वविद्यालय से बर्रा-8 8.6 किमी लंबा होगा.

यह भी पढ़ेंः केन्द्र सरकार की इस योजना से मिलेंगे पूरे 10 हजार रुपये, ये लोग मार्च तक कर लें अप्लाई

5. कानपुर मेट्रो में 9 एलिवेटेड मेट्रो स्टेशन्स होंगे और पहले कॉरिडोर का आईआईटी-कानपुर से मोतीझील का प्राथमिकता खंड अब राजस्व संचालन के लिए 29 दिसंबर से शुरू हो जाएगा.



6. कानपुर मेट्रो की ट्रेनें रीजेनरेटिव ब्रेकिंग तकनीक से लैस है. जिससे ट्रेन संचालन में 35 फीसदी तक ऊर्जा की बचत हो सकती है. इसके जरिए कानपुर मेट्रो की ट्रेने ना सिर्फ ऊर्जा की बचत करेंगी बल्कि उत्पादन भी करेंगी.

7. कानपुर मेट्रो के स्टेशन और डिपो पर लगे लिफ्ट भी रीजनरेटिव ब्रेकिंग तकनीक से ऊर्जा बचाने में सक्षम हो सकेंगे, जिनमें 34 प्रतिशत की ऊर्जा दक्षता में होगी.

8. कानपुर मेट्रो को बहुत ही खूबसूरती के साथ डिजाइन किया गया है, जिसे ओएई (ओवर हेड इलेक्ट्रिफिकेशन) केबजाय तीसरी रेल द्वारा संचालित होगा.

9. कानपुर मेट्रो शहर में सार्वजनिक परिवहन का सबसे सुरक्षित, सबसे ज्यादा आरामदायक और विश्वसनीय साधन बताया जा रहा है. इससे ट्रैफिक को राहत मिलेगी और लोगों को सुविधाजन, साफ-सुथरी सवारी मिलेगी.

10. कानपुर मेट्रो में बैठने के लिए न्यूनतम किराया 10 रुपये देना होगा. मेट्रो सुबह 6 बजे से पहली मेट्रो मिलेगी और रात के 10 बजे आखिरी मिलेगी. ये हर दिन का होगा.



Leave a Reply

Your email address will not be published.